सोशल मीडिया पर सतर्कता महत्त्वपूर्ण

0
210
views
  • सादिया अनवर
आज सोशल मीडिया पर सक्रिय रहना बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन सोशल मीडिया पर ही पूरा भरोसा करके, बगैर सोचे समझे किसी मैसेज को लगातार आगे बढ़ाना, एक गंभीर चिंतन का विषय है। यहां अनुपयोगी मैसेजों को अनायास बढ़ाते रहना चिंताजनक के साथ साथ समाज के लिए खतरा बनता जा रहा है। हम लोकतांत्रिक देश में रहते हैं और हमें अभिव्यक्ति की आजादी का सार बहुत अच्छे से समझ में भी आता है, चाहें वह किसी के विरोध के लिए हो या कुछ बोलने के लिए।
ख़ैर जो भी हो, शायद हमें अभिव्यक्ति की आजादी इसलिए प्राप्त नहीं हुई है कि हम स्वच्छंद हो जाएं, लेकिन वर्तमान स्थिति इस तथ्य को स्वीकार करती है कि अभिव्यक्ति की आजादी स्वच्छंदता में जरुर बदल चुकी है और यह लगातार चिंतन का विषय भी बनती जा रही है।
हमें इस बात पर सहमति देना नहीं भूलना चाहिए कि सोशल मीडिया पर सक्रिय विचारों से कोई न कोई सबक व प्रेरणा जरूर मिलती है, लेकिन यह हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हम किस तरह के विचारों से प्रेरित हो रहें हैं।
 सोशल मीडिया पर बिना सोचे समझे अराजकता फ़ैलाने वाले विचारों से भरे मैसेज समाज की अखण्डता पर तलवार साधने में पीछे नहीं रहते हैं, इसलिए सोशल मीडिया पर सक्रिय रहते हुए हमें ध्यान देना होगा कि हम किस तरह के मैसेजों को आगे बढ़ा रहे हैं,वह समाज के लिए हितैषी है अथवा नहीं, लोगों पर उसका क्या प्रभाव पड़ेगा। हमें सतर्क रहने की जरूरत है कि हम इन अराजक तत्वों की मंशा से बचते रहें और समाज के साथ साथ लोगों के हितैषी बनना श्रेष्ठकर होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.