भाजपा के हिंदूवादी पिच पर कांग्रेस की बैटिंग

0
386
views
कांग्रेस

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी में खुद को नुकसान पहुंचाने की अद्भुत क्षमता है,जैसे आलू से सोना, शिकंजी से कोको – कोला, मेड इन भोपाल, चाहे अलग -अलग स्थानो पर जाकर रॉफेल का अलग अलग दाम बताना, इसके अलावा भी बहुत सारे उदाहरण पड़े है| अब कांग्रेस भाजपा के हिंदुत्व वाले पिच पर 2019 के लोकसभा चुनाव लड़ेगी क्योकि कांग्रेस की जो चुनावी रणनीति है वह राहुल गाँधी के भाषण से साफ़ दिख रही है| वह हिंदुत्व के मुद्दे पे भाजपा को घेरने की फ़िराक में है| शायद उन्होंने तय कर लिया है कि लोकसभा चुनाव इसी मुद्दे पे लड़ने से नैया पार हो जाएगी| जाहिर है कि वह भाजपा के पिच पर आकर खेलना चाहते है या इसे ये भी कह सकते है की भाजपा ने उन्हें इस पिच आने के लिए बाध्य कर दिया है|

हिंदुत्व का मुद्दा भाजपा के लिए सांस लेने जैसा मुद्दा है| यह उसकी ही नहीं पूरे संघ परिवार की पहचान है| भाजपा के किसी नेता को हिंदुत्ववादी होने के लिए मंदिर, जनेऊ दिखाने या खुद को शिवभक्त बताने की जरुरत नहीं है| दूसरी तरफ राहुल गाँधी मंदिर जाकर ये बता रहे है कि वो भी हिन्दू है, लेकिन सवाल ये है कि क्या राहुल गाँधी उर्फ़ पप्पू गाँधी को अपना धर्म अभी याद आया?

बेहतर हिन्दू होने का दावा करने वाले राहुल गाँधी से सबरीमाला मामले पर सवाल पूछा गया तो उनके जवाब से असलियत सामने आ गई| उनका जवाब था कि उनकी निजी राय है कि महिलाओ को मंदिर मे जाने देना चाहिए, लेकिन केरल में मेरी पार्टी की राय अलग है|

                                                              राहुल बाबा – मुस्लिम बन लो या हिन्दू !

ये बयान बताता है कि हिंदुत्व के जमीन पर खेलने के लिए राहुल गाँधी को बहुत से सवालो का जवाब देना पड़ेगा| उनके पुराने बयान उनका आसानी से पीछा नहीं छोड़ने वाले|

मैं तो ये बिल्कूल नहीं भूल सकता कि राहुल गाँधी ने अमेरिकी राजदूत से कहा था कि भारत के लिए हिन्दू आतंकवाद इस्लामी आतंकवाद से बड़ा खतरा है,यही नहीं रुके राहुल गाँधी, ये भी बोल जाते है कि मंदिर जाने वाले वहां से निकलकर बस में लड़कियों को छेड़ते है|

ये वही हैं जो प्रभु श्री राम को काल्पनिक बताते है| वही केरल में इनकी पार्टी के लोगों ने सड़क पर गाय के  बछड़े को काटा| बहुत सारी बाते है जो बताने के लिए काफी है कि ये हिन्दू विरोधी है| राहुल गाँधी ने हिंदुत्व के पिच पर आकर भाजपा के लिए खेल आसान कर दिया है| भाजपा इस खेल कि पुरानी माहिर खिलाड़ी है, राहुल इस मामले में अभी नौसिखिया है| भाजपा ने अयोध्या में राम मंदिर पर माहौल गरमा दिया है| सबरीमाला और तीन तालाक जैसे मुद्दे ने भाजपा का हौसला बढ़ाया है| बात साफ़ है,कांग्रेस जो दिख रही है, वो कभी थी नहीं बल्कि हिंदुत्व का चादर ओढी हुई है सिर्फ हिन्दू वोट बैंक के लिए| मै तो साफ कहता हूँ कि राहुल गाँधी वो बनने का प्रयास कर रहे है जो वो है नहीं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.