घरेलू हिंसा

0
1328
views

आज के युग में हम बात करे तो हिंसा महिला और पुरुष दोनों को सहनी पड़ती है पर ऐसी कुछ निश्चित हिंसा जो केवल महिलाओ के साथ ही होती है अगर हम घरेलु हिंसा की बात६ करे तो भारत में महिलाओ को इसका हमेशा शिकार होना पड़ता है और ये सिलसिला गर्भ में होने से ले  लेकर जब वे भुजुर्ग हो जाती है तब भी उनको यह सहना पड़ता है .भारत का समाज एक सत्तात्मक व्त्य्वस्था माने वाला समाज है और यहाँ पे महिलाओ के साथ भेदभाव और असामनता हमेशा होते आयी है |

या ही काफी नहीं छोटी बच्चियों के साथ यौन शोषण भी इनमे से एक गंभीर समस्या जो घर की चार दीवारी में होते आये है और इसकी वजह का कुछ पता नहीं कब कौन किसकी नज़र का शिकार हो जाए है आये दिन हम, अपराध पे आधारित शो जिसमे महिलाओ को जाएगरॉक किया जाते है अपराधों का नाट्य रूपांतरण कर के .इस को महिलाए काफी जागरूक तो हुई है पर इसका कोई असर हम्मरे समाज नहीं है कहना का तात्पर्य ये है की कभी भी इस्पे रोक नहीं लग पायी और अपराध लोगो की गंदी सोह के कारण भी होते है |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.