क्या है ये ज़िन्दगी

0
17
views
क्या है ये ज़िन्दगी

एक अधुरा एहसास है ज़िन्दगी

एक कभी न बुझने वाली प्यास है ज़िन्दगी ।

कभी २४ घंटो की मोहताज़ है ज़िन्दगी

कभी कई सदियों के बाद है ज़िन्दगी ।

कभी चलती सांसो में है ज़िन्दगी

कभी रुकी धड़कन के सन्नाटो में है ज़िन्दगी ।

कभी सुई सी छोटी है ज़िन्दगी

कभी किसी महापर्वत की चोटी है ज़िन्दगी ।

क्या है ये ज़िन्दगी

न जाने क्या है ये ज़िन्दगी ।

कभी खुशियों से लिपटा कोई ख्याल है ज़िन्दगी

कभी अश्को में भीगा कोई रुमाल है ज़िन्दगी ।

क्या है ये ज़िन्दगी,न जाने क्या है ये ज़िन्दगी

कभी फुर्सतो सी खली है ज़िन्दगी ।

कभी भाग दौड़ भरी दिवाली है ज़िन्दगी

कभी ख्वाहिशो का आसमान है ज़िन्दगी ।

कभी हकीकत की ज़मीन है ज़िन्दगी

कभी छुप छुप कर चलना है ज़िन्दगी ।

कभी निडर होकर निकलना है ज़िन्दगी

कभी चार दोस्तों की यारी है ज़िन्दगी ।

कभी अकेली और बेचारी है ज़िन्दगी

नजाने क्या है ये ज़िन्दगी,बस इतना पता है ।

के कभी मुझसे है ज़िन्दगी ,कभी तुझसे है ज़िन्दगी ।

Leave a Reply